Jovial Talent

नयी उम्मीदें | Hindi Kavita | Jovial Talent

 नयी उम्मीदें....मेरी कलम से



नयी उम्मीदें


खुद ही से मैं नज़रें चुराने लगी हूं,

उन यादों से दामन छुड़ाने लगी हूँ ।


खुद ही से खुद ही का पता पूछती हूँ,

न जाने कहाँ मैं विलीन हो चुकी हूँ ।


अरमानों को अपने दबाने लगी हूँ,

पहचान अपनी भुलाने लगी हूँ ।


भटकने लगी राह मंज़िल की अपनी,

कहूँ क्या किधर थी, किधर को चली हूँ ।


मिल जाये न साथी कोई बीते दिनों का,

ऐसे लोगों से अब मैं कतराने लगी हूँ ।


मजबूरियों की बोझ तले दबने लगी हूँ,

हालात के बन्धनों में मैं जकड़ने लगी हूँ।


अपनी जिम्मेदारियों को निभाना तो होगा,

पर धूमिल पहचान अपनी दिखाना भी होगा।


उलझनें अपनी खुद मैं सुलझाने लगी हूँ,

सोयी उम्मीदें को फिर से जगाने लगी हूँ।


जमती धूलों को अब मैं हटाने चली हूँ,

राह मंज़िल की अपनी बनाने चली हूँ ।


किसी मोड़ पर मिल ही जायेगी 'तृप्ति' ,

अपने कदमों को अब मैं बढ़ाने लगी हूँ ।


                          --तृप्ति श्रीवास्तव

Best 11 Kitchen Vastu Tips For Tava in Hindi 2021 | Kitchen mein Tawa Kaise Rakhe

रसोई मे ऐसे रखें तवा हो जाएंगे मालामाल 


घर का सबसे पवित्र जगह पूजा घर के बाद रसोई ही मानी जाती है। किचन में तवा का उपयोग प्रतिदिन होता है। लेकिन क्या आपको पता है कि रसोई घर में तवा कैसे रखना चाहिए?

वास्तु के अनुसार रसोई अगर अव्यवस्थित हो या वहां रखे बर्तन सही तरीके से प्रयोग नहीं किए जाएं तो ये घनघोर वास्तु दोष का कारण बनते हैं।  इस प्रकार किचन में सबसे अधिक प्रयोग आने वाले बर्तनों में तवे का बहुत ज्यादा महत्व होता है। तवा अगर रसोई में सही तरीके से प्रयोग न हो तो उससे घर में कंगाली या बीमारी का खतरा बना रहता है। 


Vastu tips for Tawa
रसोई में तवे को ऐसे रखें 


वास्तु के अनुसार तवा को राहू का प्रतीक माना गया है और राहु अगर कुपित हो तो घर का सर्वनाश होने से कोई नहीं रोक सकता। इसलिए घर में रखा तवा आपकी किस्मत बना और बिगाड़ दोनों सकता है। 

तवा को अगर वास्तु अनुसार रखा जाए तो यह शुभ फलदायी हो सकता है। इतना ही नहीं तवे के कारण घर में सुख समृद्धि और धन दौलत आ सकती है। ऐसे में इनका प्रयोग करते समय विशेष ख्याल रखे जाने की जरूरत होती है। इसलिए तवे को लेकर हमेशा सतर्क रहे। तवा की पवित्रता का ख्याल रखे इससे घर में बरकत आती है। रसोई घर में स्वच्छता का जितना ख्याल रखा जाएगा धन आगमन के रास्ते उतने ही आसान होंगे। 

आज हम आपको रसोई में अधिकतर इस्तेमाल होने वाले तवे के बारे में बताएंगे कि किस तरह तवा भी आपके घर में शुभ अशुभ फल ला सकता है....


रसोई में तवा को कैसे रखें



1. तवा और कढ़ाई को जहां पर खाना बनाते हों, उसकी दाईं ओर रखें क्योकि किचन के दाई ओर मां अन्नपूर्णा का स्थान होता है।

2. खाना बनने के बाद खाली चूल्हे पर तवा न चढ़ाएं। गैस बंद करने के बाद तवा कभी उसके ऊपर न छोड़ें। जब आप सुबह पहली रोटी पकाने जाएं तो उससे पहले तवे पर नमक छिड़क दें। परंतु इस बात का ध्यान रखें कि नमक में कोई भी अन्य पदार्थ ना मिला रहे यानी हल्दी या लाल मिर्च ना मिला हो। इस उपाय से घर में अन्न तथा धन बना रहेगा।

3. घर की समृद्धि और खुशहाली के लिए पहली रोटी किसी जानवर या पक्षी के लिए निकाल दें। तवा और कढ़ाई में ना तो खाना खाएं और न ही उसमें जूठा खाना छोड़ना चाहिए। ऐसा करने से घर का वास्तु दोष बिगड़ सकता है।

4. कई लोगों की ये आदत होती है कि रात का भोजन तैयार करने के बाद वो तवे को धोते नहीं हैं। आपका ऐसा करना अन्न को अपमानित करने के समान माना जाता है। रात का खाना बनाने के बाद तवा हमेशा धो कर सुखा कर ही रखें

5. अगर रसोई घर में कोई महिला गंदे तवे और कढ़ाई का प्रयोग करती है तो इससे पुरुषों खास कर पति पर कुप्रभाव पड़ता है। इस कारण महिला के घर के सदस्य पति या बेटा नशे में लिप्त हो जाते हैं। 


यह भी जरुर पढ़ें :




6. घर में यदि तनाव और कलह की स्थिति चल रही है तो आप बिना धुले तवे पर दो या तीन इंच की रोटी बना लें इसे घर के बाहर रख दें ताकि कोई जानवर या पक्षी इसे खा सके। इस उपाय से घर की सारी नकारात्मकता दूर हो जाएगी।

7, किचन में कभी भी तवा और कढ़ाई को उल्टा करके नहीं रखना चाहिए। यह शुभ नहीं होता। वास्तु के मुताबिक आपके ऐसा करने से घर में राहु की नकारत्मक उर्जा का संचार होता है और होने वाली घटनाओं में वृद्धि हो सकती है।


Best 11 Kitchen Vastu Tips For Tava
उल्टा तवा



8. जब तवे का उपयोग न करना हो तो उसे ऐसी जगह पर रखें जहां से वह आम नजरों में न आ पाए। कहने का तात्पर्य उसे खुले में रखने की बजाए किसी आलमारी या दराज में रखें। रसोई मे ऐसे रखें तवा हो जाएंगे धनवान

9. जो तवा प्रयोग में न हो उसे किचन में न रखें, उसे वहां से हटा कर ऐसी जगह रखें जहां किसी की नजर न पड़े उसे किसी अलमारी आदि में रख दें। रसोई में तवे को ऐसे रखें

10.कभी भी गर्म तवा पर पानी नहीं डालना चाहिए इससे घर में मुसीबतें आती हैं। ऐसा माना जाता है कि गर्म तवे पर पानी पड़ने से उत्पन्न होने वाली छन्न की आवाज आपके जीवन में परिशानियों की गूंज बनकर आ सकती है।

11.तवे को चमकाने के लिए कभी भी उस पर नुकीली या धारदार चीजों का प्रयोग करें। तवा नींबू और नमक मिला कर साफ करें। यानी तवा जितना चमकेगा आपकी किस्मत भी उतनी ही चमकेगी।

इन छोटी लेकिन महत्वपूर्ण् बातों पर ध्यान दे कर घर में सकारात्मक ऊर्जा ला सकती हैं। Kitchen में तवे को इस तरह रखने से घर में सुख समृद्धि और धन दौलत आती है घर में सुख-संपत्ति और वैभव का वास हमेशा रहेगा। इस तरह तवे से जुड़ा है घर की खुशहाली का कनेक्शन

LPG Gas Cylinder Booking New Delivery System 2021 in Hindi

 

LPG गैस सिलेंडर की डिलीवरी के लिए नया सिस्टम

 

गैस सिलेंडर की बुकिंग
Indane Gas Cylinder

एक नवंबर,2020 से तरलीकृत पेट्रोलियम गैस (LPG) सिलेंडर की होम डिलीवरी के नियमों में बड़ा बदलाव हो गया है। अब LPG Gas Cylinder बुक करने वाले उपभोक्‍ताओं को घर पर LPG Gas Cylinder की डिलीवरी लेने से पहले वन-टाइम पासवर्ड (OTP) बताना अनिवार्य होगा।  इसमें सिलेंडर की बुकिंग OTP के जरिये होगी। OTP प्रोसेस से डिलीवरी को Delivery Authentication Code (DAC) कहा गया है. . 

घरेलू गैस सिलेंडर की बुकिंग के बाद आपको रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी प्राप्त होगा। जब डिलीवरी मैन घर पहुंचेगा तो उसको OTP बताना होगा। एक बार इस कोड का सिस्टम से मिलान करने के बाद ही ग्राहक को सिलेंडर की डिलीवरी की जाएगी। जब तक यह कोड नहीं बताएंगे तब तक डिलिवरी पूरी नहीं होगी और स्टेट्स पेंडिंग में ही रहेगा.

जिन ग्राहकों का मोबाइल नंबर रजिस्टर्ड नहीं है, तो डिलीवरी पर्सन एक एप के जरिये इसे रियल टाइम अपडेट भी कर पाएगा और कोड जनरेट करेगा। इस प्रकार से ग्राहकों को कोड मिल जाएगा। ऑयल कंपनियों की तरफ से सभी ग्राहकों को सलाह दी गई है कि वो अपना नाम, पता और मोबाइल नंबर अपडेट करा लें ताकि उन्हें सिलेंडर की डिलीवरी लेने में किसी तरह की कठिनाइयों का सामना ना करना पड़े। हालांकि यह नियम कॉमर्शियल एलपीजी सिलेंडर के लिए लागू नहीं होगा।

 

Indane Gas ने बदला सिलेंडर बुकिंग का नंबर

 

इंडियन ऑयल ने अपनी रसोई गैस उपभोक्ताओं के लिए एक नया नंबर जारी किया है। अब इंडेन के रसोई गैस उपभोक्ता इस नए नंबर पर कॉल कर या फिर एसएमएस के जरिए गैस की बुकिंग कर सकेंगे। इससे पहले इंडेन के ग्राहकों को अलग अलग सर्किल के लिए अलग अलग नंबर पर कॉल करनी पड़ती थी, हालांकि सभी सर्किल के लिए अब एक ही नंबर जारी किया गया है, जिससे देश भर के गैस उपभोक्ता रसोई गैस सिलेंडर की बुकिंग कर सकेंगे। अब इंडेन के ग्राहक अपनी रसोई गैस को बुक कराने के लिए 7718955555 पर संपर्क कर सकते हैं। ग्राहक इस मोबाइल नंबर पर कॉल कर आईवीआर की मदद से या एसएमएस कर रसोई गैस सिलेंडर की बुकिंग कर सकते हैं। कंपनी के मुताबिक ग्राहक किसी भी दिन किसी भी समय इस नंबर की मदद से रसोई गैस की बुकिंग करा सकते हैं। इससे इंडेन के देशभर के ग्राहकों को काफी अधिक सहूलियत होगी।


नमक का ये गुप्त उपाय बदल खोल देगा आपकी किस्मत का ताला : जानने के लिए क्लिक करें


गैस सिलेंडर की बुकिंग के लिए लोगों का पहले से अपना मोबाइल नंबर गैस एजेंसी में रजिस्टर्ड होना चाहिए। 


इंडेन बुकिंग नंबर 7718955555 पर कॉल करें .

16 डिजिट की कस्टमर आईडी को एंटर करें .

कस्टमर आईडी इंडेन एलपीजी की इनवॉयस या बुक पर लिखी होती है . 

कस्टमर आईडी एंटर करने के बाद बुकिंग कन्फर्मेशन की जानकारी मिलेगी .इस कन्फर्मेशन के बाद आपकी बुकिंग स्वीकार हो जाएगी.


गैस सिलेंडर की बुकिंग


Whatsapp से ऐसे बुक करें गैस सिलेंडर


 Whatsapp पर भी बुकिंग हो सकती है. WhatsApp मैसेंजर पर REFILL टाइप कर उसे 7588888824 पर भेज दें. यह संदेश रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से ही भेजें. Indane  सिलेंडर का ऐप डाउनलोड कर भी सिलेंडर बुक कर सकते हैं.


सिलेंडर की एक्सपायरी डेट जरूर चेक करें


अधिकतर लोग सिलेंडर लेते वक्त उसकी एक्सपायरी डेट नहीं देखते. एक्सपायरी डेट के बाद सिलेंडर का इस्तेमाल करना काफी खतरनाक हो सकता है और उसमें लीकेज समेत कई दिक्कतें हो सकती हैं. 


सिलेंडर की एक्सपायरी डेट रेगुलेटर के पास लिखी होती है. रेगुलेटर के पास जो तीन पट्टी होती हैं, उनमें से किसी एक पर A, B, C, D लिखा होता है. गैस की कंपनियां इन लेटर को हर तीन महीने में बांट देती हैं. यहां पर A का मतलब जनवरी से मार्च, B का मतलब अप्रैल से जून, C का मतलब जुलाई से सितंबर और D का मतलब अक्टूबर से दिसंबर तक का होता है. आसान भाषा में कहें तो A, B, C, D हर तीन महीने को प्रदर्शित करते हैं और 20, 21, 22 साल को दर्शाती हैं. अगर किसी सिलेंडर पर D-21 लिखा है, तो उसका मतलब है कि वह सिलेंडर दिसंबर 2021 तक इस्तेमाल किया जा सकता है.


Paytm से गैस सिलेंडर की बुकिंग पर पाएं Special Cashback Offer 


Paytm app के जरिये 31 दिसंबर 2020 तक आप अपना एलपीजी सिलिंडर (LPG Cylinder) बुक कराकर 500 रुपये तक का कैशबैक (Cashback) पा सकते हैं. भारत गैस (Bharat Gas), एचपी गैस (HP Gas) और इंडेन (Indane) के ग्राहक Paytm की इस सुविधा का फायदा उठा सकते हैं.


LPG subsidy

जरूर पढ़ें पेट की समस्या का समाधान

 

फॉलो करें ये स्टेप्स :


1) Paytm ऐप ओपन करें।

2) ऐप ओपन होने के बाद show more पर क्लिक कीजिए।

3) इसके बाद Recharge and Pay Bills पर टैप करें, आपको कई options मिलेंगे, इन्हीं में से एक option आपको Book a Cylinder का भी मिलेगा।

4) Book a Cylinder  पर क्लिक करने के बाद आपको गैस प्रोवाइडर चुनना होगा, Bharat Gas, Indane Gas या फिर HP Gas ।

5) गैस प्रोवाइडर चुनने के बाद  गैस एजेंसी में दिया रजिस्टर मोबाइल नंबर या फिर LPG आईडी डालें।

6) जैसे ही आप डिटेल्स डालकर Proceed पर Click करेंगे आपके सामने LPG आईडी, कंज्यूमर का नाम और  गैस एजेंसी का नाम आ जाएगा। नीचे की तरफ Gas Cylinder के लिए ली जाने वाली राशि नजर आएगी।

8. आप चाहें तो कस्टमर केयर नंबर 1800-233-3555 से भी  गैस सब्सिडी की जानकारी ले सकते हैं।


                                                                                

 


Namak Ke Best Totke in Hindi 2021| अपार धन प्राप्ति के लिए करें नमक का ये गुप्त उपाय

 

सुख समृधि के लिए करें नमक का ये गुप्त उपाय


नमक सिर्फ खाने को स्वादिष्ट ही नहीं बनाता बल्कि Namak Ke Totke में नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने की भी अद्भुत शक्ति होती है। वास्तु शास्त्र की मानें तो नमक में बुरी शक्तियों को दूर करने की बहुत शक्ति होती है। नमक का गुप्त उपाय न सिर्फ आपके घर को सकारात्मक ऊर्जा से भर देता है बल्कि आपके घर में सुख- समृद्धि बढ़ाने में भी सहायक है। 


वास्तुदोष निवारण में नमक एक शक्तिशाली उपाय है। वास्तु के अनुसार नमक से जुड़े वास्तु उपाय करके आप तनाव और रोगों से मुक्ति पा सकते हैं, साथ ही राहु के अशुभ प्रभाव से भी राहत मिलेगी। घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होगा,जिससे आपकी  शारीरिक, मानसिक और आर्थिक समस्याएं दूर होंगी। 


Namak ke Chamatkari upay देखने के लिए एक बार कृपया इस विडियो को जरूर देखें -





तो आइये जानते हैं कि क्या है नमक का चमत्कारी उपाय

 

नमक को हमेशा कांच के बर्तन में रखें


नमक को कभी भी स्टील या लोहे के बर्तन में नहीं रखना चाहिएनमक को हमेशा कांच के बर्तन में रखें और उसमें चार-पांच लोंग डाल दें। इससे आपके नमक में नमी भी नहीं आती है घर में सुख-संपन्नता बनी रहती है। नमक को किसी प्लास्टिक के बर्तन में भी नहीं रखना चाहिये . यह बीमारी और परेशानियों का कारण बन सकता है।


 कैसे करें नमक से चमत्कारी उपाय


घर में सकारात्मक माहौल के लिए साबुत नमक को लाल रंग के कपड़े में बांधकर मुख्य द्वार पर लटकाना चाहिए। इससे घर में  नकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश नहीं होता है। इससे बुरी नजर से भी बचाव होता है।


रात को सोते समय पानी में एक चुटकी नमक डालकर उस पानी से अपने हाथ-पैर धोकर धोने से शारीरिक थकान तो मिटती है, नमक के प्रयोग से आपका तनाव दूर होगा और आपको रात में नींद भी अच्छी आएगी, साथ ही सकारात्मक उर्जा का संचार होता है।


किसी भी शनिवार को एक पोटली में थोडा नमक , थोडा चावल, थोड़ी काली उड़द की दाल और थोड़ी लाल मिर्च डालकर इसे किसी भी गरीब व्यक्ति को दान कर दें. नमक का गुप्त उपाय करने से दुर्भाग्य सौभाग्य में बदल जाता है औए जीवन में खुशहाली आ जाती है .


यदि आपका मन बहुत अशांत रहता है या आपको किसी प्रकार का मानसिक तनाव है, तो पानी में रोजाना एक चुटकी नमक डालकर स्नान करें। Namak Ke Totke से आपको तनाव से मुक्ति मिलेगी। आपके शरीर की नकारात्मक ऊर्जा भी दूर होगी।


 जरूर पढ़ें : सुख समृद्धि के लिए घर में जूते चप्पल कहाँ रखें...


अगर आप या फिर कोई व्यक्ति लंबे समय से रोगग्रस्त है, तो उसके सोने के स्थान के पास कांच के बर्तन में नमक भरकर रख दें। एक सप्ताह बाद उस नमक को बदल दें। ऐसा कुछ हफ्तो तक करें। नमक के चमत्कारी उपाय से उस व्यक्ति की नकारात्मक ऊर्जा दूर होगी। जिससे उसके स्वास्थ्य में सुधार देखने को मिलेगा।


ऐसा माना जाता है कि सबसे ज्यादा नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव शौचालय में होता है . कांच के बाउल में सैंधा नमक की डलियां भरकर शौचालय में रखने से वहां की नकारात्मक ऊर्जा समाप्त होती है। पंद्रह दिन के बाद नमक को बदलते रहें। दरअसल, नमक राहु के नकारात्मक प्रभाव को दूर करता है।


अगर पति-पत्नी में छोटी-मोटी बातों पर झगड़ा होता है, तो गृहकलेश को दूर करने के लिए आपको अपने शयनकक्ष के एक कोने में सेंधा नमक का एक छोटा सा टुकड़ा अवश्य रखना चाहिए। नमक नकारात्मक ऊर्जा को सोख लेता है, Namak Ke Achuk Upay से धीरे-धीरे तनाव दूर होगा और रिश्ते सुधरेंगे। इस टुकड़े को महीने भर के बाद बदल दें और दूसरा नया टूकड़ा रख दें।


LPG Gas Home Delivery New Rules : जानने के लिए क्लिक करें

खुले कांच के बर्तन में नमक भर दें

नमक के चमत्कारी टोटके


यदि परिवार के किसी सदस्य को नजर लग गई है, तो एक चुटकी नमक और थोड़ी सी राई लेकर सात बार सिर के ऊपर से घुमाकर पानी में बहा दें अथवा बाहर फेंक दें,नज़र उतर जाएगी। 


हफ्ते में एक दिन पानी में चुटकी भर नमक मिलाकर बच्चों को नहलाएं, बच्चों को नजर नहीं लगेगी और स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां भी कम होंगी।


गुरुवार को छोड़कर पोंछा लगाते समय पानी में थोड़ा साबुत खड़ा नमक (समुद्री नमक) मिला लेना चाहिए। Namak Ka Gupt Upay करने से घर की नकारात्मक ऊर्जा नष्ट हो जाती है एवं दरिद्रता दूर होकर घर में सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है और कार्यों में आ रही परेशानियां दूर हो जाती हैं।


  जरूर पढ़ें : सफलता प्राप्त करने के लिए ऐसे करें हस्ताक्षर


किसी खुले कांच के बर्तन में नमक भरकर उसमे 4-5 लौंग भी डाल दें. अब उसे अपनी आलमारी या तिजोरी के पास रख दें . Namak ka Vastu Upay करने से घर में बरकत बनी रहती है और घर में माँ लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है .


धनतेरस के दिन किसी काले कपड़े में डली वाला काला नमक बाँध कर अपने मुख्य द्वार पर लटका दें, Namak Ke Best Upay से धन की आवक दिन दूनी रात चौगुनी बढ़ती जाती है।


धनतेरस पर नमक का नया पैकेट खरीदें। खाना बनाने में नया नमक ही प्रयोग करें। इससे धन की आवक में वृद्धि होगी। घर के उत्तर पूर्व कोने में थोड़ा सा नमक कटोरी अथवा छोटी डिब्बी में डालकर रख सकते हैं। नमक के वास्तु उपाय से घर की नकारात्मकता खत्म होगी और धनागमन के साधन बनने लगेंगे।


यदि किसी व्यक्ति को घर में नकारात्मक ऊर्जा के होने का आभास हो रहा हो, या किसी रूह के होने का डर सता रहा हो या किसी भी चिंता की वजह से वह परेशान हो तो शीशे के बर्तन में नमक डालकर घर के किसी भी कोने में रख दें। ये नमक का उपाय करने से नकारात्मक ऊर्जा घर से निकल जाएगी।


ऐसा माना जाता है कि भोजन को पकाते वक्त चखने से उसकी पवित्रता कम हो जाती है और इस वजह से घर में दरिद्रता आती है। जिस घर में दरिद्रता का वास होता है वहां लक्ष्मी का आगमन कभी नहीं होता या अगर घर में लक्ष्मी है भी तो वो दूर चली जाती है। इसलिये धन की अपार वर्षा के लिए अपनाएं Namak ke Best Totke.


Best Signature Style to get Success 2021 | Successful होने के लिए ऐसे करें Signature

 

Lucky Signature Tips : You Need To Know


Signature व्यक्ति के व्यक्तितत्व का आइना होता है। ज्योतिष की मान्यता है कि जिस व्यक्ति का जैसा स्वभाव होता है, उसके Signature भी वैसे ही होते हैं। इस कारण हम सिग्नेचर देखकर भी लोगों के स्वभाव और आदतों के विषय में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। 


चूकि Signature में अगुलियों का प्रयोग होता है और अगुलियों का सीध सम्बन्ध दिमाग से होता है। जैसी आपकी सोच होगी या जो सोंचेगे उसका प्रभाव आपके Signature पर दिखेगा। इस वजह से इस माध्यम से व्यक्ति मनोवृत्ति का पता लगाया जा सकता है। 


ज्योतिष और हस्ताक्षर


हम चाहे किसी भी प्रोफेशन में हों, किसी ना किसी काम के लिए डेली हमें सिग्नेचर करने की आवश्यकता पड़ ही जाती है. सिग्नेचर यानि की हस्ताक्षर एक ऐसी कला है जो हर किसी में विभिन्न प्रकार की होती है। हर एक व्यक्ति के हस्ताक्षर अलग-अलग होते हैं। 

आइये जानते हैं कि 

आपका हस्ताक्षर  (Signature) आपके व्यक्तित्व के बारे में क्या कहता है




यह भी पढ़ें :

सरकारी नौकरी के लिए असरदार उपाय...Click here


 जो लोग हस्ताक्षर में सिर्फ अपना नाम लिखते हैंसरनेम नहीं लिखते हैंवे खुद के सिद्धांतों पर काम करने वाले होते हैं।आमतौर पर ऐसे लोग किसी और की सलाह नहीं मानते हैंये लोग सुनते सबकी हैंलेकिन करते अपने मन की हैं। 


जो लोग हस्ताक्षर करते समय नाम का पहला अक्षर थोड़ा बड़ा लिखते हैंवे अद्भुत प्रतिभा के धनी होते हैं। ऐसे लोग किसी भी कार्य को अपने अलग ही अंदाज से पूरा करते हैं। अपने कार्य में पारंगत होते हैं। ऐसे लोग जीवन में सभी सुख-सुविधाएं प्राप्त करते हैं।


Lucky Signature Tips


जो लोग जल्दी-जल्दी और अस्पष्ट हस्ताक्षर करते हैं, वे जीवन में कई प्रकार की परेशानियों का सामना करते हैं। ऐसे लोग सुखी जीवन नहीं जी पाते हैं। हालांकि, इस प्रकार के लोग महत्वाकांक्षी, परिश्रमी होते है। लेकिन इनके जीवन में काफी उतार-चढ़ाव बना रहता है। ऐसे लोग राजनीति के क्षेत्र में ज्यादा सफल होते है।


किसी व्यक्ति के नाम की स्पेलिंग में यदि i  (आइ) हो और वो अपने हस्ताक्षर में i  के ऊपर बिंदु(.) के स्थान  एक गोला (o) बनाये तो इसका मतलब यह है कि ऐसे लोगों के मन में हमेशा अकेलेपन का एहसास रहता है। ऐसे व्यक्ति थोड़े संकोची प्रवृत्ति के होते हैं.


जो लोग कलात्मक और आकर्षक हस्ताक्षर करते हैं, वे रचनात्मक स्वभाव के होते हैं। इन्हें किसी भी कार्य को कलात्मक ढंग से करना पसंद होता है। ऐसे लोग किसी न किसी कार्य में हुनरमंद होते हैं। इन लोगों के काम करने का तरीका अन्य लोगों से एकदम अलग होता है।


कुछ लोग हस्ताक्षर के नीचे दो लाइन खींचते हैं। ऐसे सिग्नेचर करने वाले लोगों में असुरक्षा की भावना अधिक होती है। ऐसे लोग भावुक होते हैं। किसी काम में सफलता मिलेगी या नहीं, इस बात का इन्हें सदैव संदेह रहता है।


जिन लोगों के सिग्नेचर मध्यम आकार के अक्षर वाले, जैसी उनकी लिखावट है, ठीक वैसे ही हस्ताक्षर हो तो व्यक्ति हर काम को बहुत ही अच्छे ढंग से करता है। ये लोग हर काम में संतुलन बनाए रखते हैं। दूसरों के सामने बनावटी स्वभाव नहीं रखते हैं।


जो लोग अपने हस्ताक्षर को नीचे से ऊपर की ओर ले जाते हैं, उनका स्वभाव महत्वाकांक्षी तथा उत्साही होता है। वे आशावादी होते हैं, निराशा का भाव उनके स्वभाव में नहीं होता है। इनका उद्देश्य जीवन में ऊपर की ओर बढ़ना होता है।


जिन लोगों के हस्ताक्षर ऊपर से नीचे की ओर जाते हैं, वे नकारात्मक विचारों वाले होते हैं। इन्हें किसी भी कार्य में असफलता पहले नजर आती है। इसी वजह से नए काम करने में इन्हें कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इनकी मित्रता कम लोगों से रहती है।


इसे भी जरूर पढ़ें : सुख-समृद्धि के लिए घर में जूते चप्पल कहाँ रखें :


यदि कोई व्यक्ति हस्ताक्षर के अंत में लंबी लाइन खींचता है तो वह ऊर्जावान होता है। ऐसे लोग दूसरों की मदद के लिए सदैव तत्पर रहते हैं। किसी भी काम को पूरे मन से करते हैं और सफलता भी प्राप्त करते हैं।


जो लोग हस्ताक्षर के अन्त में डॉट या डैश लगाते है, वे धीर गंभीर दिखाई देंगे किन्तु अन्दर से ऐसे व्यक्ति शंकालु या डरपोक प्रवृत्ति के होते हैं। इन्हे समझ पाना कठिन काम होता है। ये अपनी बातों को किसी से जल्दी शेयर नहीं करते है।


ऐसे लोग जो बायें हाथ से हस्ताक्षर करते है, उनमें गजब की प्रतिभा होती है। वे जिस क्षेत्र में जायेंगे उसमें इतिहास रचने की कोशिश करेंगे। हालांकि, लापरवाही इनके जीवन का सबसे नकारात्मक पक्ष है।


ऐसे लोग जो हस्ताक्षर करते समय कलम पर अधिक दबाव डालते है। वे लोग भावुक, जिददी, संवेदनशील व क्रोधी प्रवृति के होते है। ये स्पष्ट बोलने में अधिक विश्वास करते है।


जो लोग अपने हस्ताक्षर को लिखते वक्त कलम पर ज्यादा दबाव न डालें वह व्यकित सामाजिक उत्सवों में बढ़-चढ़कर भाग लेता। ऐसे लोग स्वयं का हित न ध्यान रखकर समाज की समस्याओं को समाप्त करने का बीणा उठाते है।


जो मनुष्य तीव्रगति से हस्ताक्षर करता है। वह लगभग हर कार्य में दक्ष रहने की कोशिश करता हैं एंव हर चीज में फास्ट रहता है। उसे आलसी लोग पसन्द नहीं होते है। इनकी ज्यादातर सोंच अपने पर ही केनिद्रत रहती है।


यदि हस्ताक्षर लेखन से ज्यादा बड़े हो तो ऐसे जातक अति महत्वाकांक्षी का प्रकृति के होते है और सारे रिश्ते नाते ताख पर रखकर काफी हदतक अपनी मंजिल को पाने में कामयाब भी होते है। ये कल्पनाये तो बहुत करते-रहते है लेकिन उन्हे मूर्त देने में टाल-मटोल किया करते है।


जिस मनुष्य के हस्ताक्षर लिखावट की अपेक्षा छोटे होते है। ऐसे लोग हीन भावना के शिकार होते है और हमेशा उनके मन पर भय हावी रहता है। संकोची स्वभाव के होने के कारण ये अपनी बात को दूसरे के समक्ष अच्छे ढ़ंग से नहीं रख पाते है।


इसके अलावा ज्योतिष में धन संबंधी मामलों के लिए हस्ताक्षर से सम्बंधित कुछ ध्यान रखने योग्य बातें भी बताई गयी हैं। यदि आप बहुत धन कमाते हैं और फिर भी बचत नहीं हो पाती है तो अपने हस्ताक्षर के नीचे एक पूरी लाईन खीचें और उसके नीचे दो बिंदू बना दें। इससे आपके धन में वृद्धि होने लगेगी।