Monday, 16 July 2018

राहु दोष निवारण | राहु ग्रह की शांति के उपाय | Jovial Talent | numerology


जिनका राहु खराब होता है वे लोग गंदे तरीके से रहते हैं नहाते नही हैं । उनके नाखून बढ़े हुए रहते हैं । वे किसी की बात नही सुनते हैं और खुद को सर्वोपरि समझने लगते हैं। इनमें धैर्य की भी कमी होती है।  तो आइये दोस्तोँ, जानते हैं कि राहु को शुभ करने के लिए कौन से उपाय किये जायें ...


1.  नहाने की बाल्टी में गेंदे के फूल की पत्तियां, गंगा जल तथा कुशा डालकर नहाये और ओम नमः शिवाय का जाप करें।

2.  बुधवार को विकलांगों तथा अनाथ लोगोँ सहायता करें।

3.  रविवार को बिना पत्तों की मूली किसी  गरीब को दान करें।

4.  250 ग्राम सौंफ तथा कुशा लेकर उसे लाल कपड़े में रखकर तकिया बनाकर रात को सोयें।

5. अपनी लंबाई के बराबर नीला धागा लें और नारियल के ऊपर लपेटकर किसी शुक्रवार की रात सिरहाने रख कर सोयें और शनिवार को अपने सिर से सात बार वार कर किसी बहते जल में प्रवाहित कर दें। ऐसा 2 शुक्रवार को करें।

7.  अपनी छत पर सात प्रकार के अनाज और किसी पात्र में जल रख कर पक्षियों को दें।

8.  महीने में एक बार किसी अस्पताल जाकर वहां का जल ग्रहण कर लें।

9.  शनिवार को सफेद तिल तथा चीनी मिलाकर चींटियों को खिलायें।

10.  अपने शयनकक्ष में इलेक्ट्रॉनिक उपकरण तथा बंद घड़ियां न रखें।

11.  मांस मदिरा का बिल्कुल भी सेवन न करें।

12.  काले तथा नीले कपडों का बिल्कुल इस्तेमाल न करें।

13.  अनुलोम विलोम किया करें।

14.  अगर कुंडली में शुक्र आगे और बुध पीछे हो तो राहु अच्छे फल देता है परंतु इसके विपरीत बुरा प्रभाव देता है।

15.  अष्टम भाव का राहु परिवार से अलग कर देता है। बवासीर का रोगी भी बना देता है। परंतु जातक बहुत बुद्धिमान होता है।

16.  सूर्य के साथ राहु का योग शुभ फल नही देता है और जातक को आगे बढ़ने में बाधा डालता है।

No comments:

Post a Comment